छत्तीसगढ़ इस महिन अक्टूबर 2020

छत्तीसगढ़ की सम-सामयिक घटनाओं की जानकारी :

Home About us Contact
Subject: सम-सामयिक घटनाएं

Siyan Shouts की पेशकश, .

Previous Next

बायो लॉजिकल हेरिटेज साइट के रूप में पुरातत्व स्थल गढ़ धनोरा को विकसित करने की योजना


कोंडागांव जिले के अंतर्गत केशकाल काल से मात्र 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पुरातत्व स्थल गढ़ धनोरा में प्राचीन काल के अवशेष विद्यमान हैं साथ ही इस क्षेत्र में अनेकों प्रकार की वन औषधियों प्रचुर मात्रा में पाई जाती हैं.
जैव विविधता से परिपूर्ण पुरातत्व स्थल को जैव विविधता अधिनियम 2002 की धारा 37 के प्रावधान के अंतर्गत बायोलॉजिकल हेरिटेज साइट के रूप में विकसित किया जा रहा है इसके अतिरिक्त इस स्थल को इको पर्यटन स्थल के रूप में भी बढ़ावा देने की योजना है

वन अधिकार पट्टा धारी किसानों से भी समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का निर्णय


छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश के वन अधिकार पट्टा धारी किसानों के हित में निर्णय लेते हुए खरीफ फसल वर्ष 2020 -21 में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का निर्णय लिया है जो Rs/-1865 प्रति क्विंटल है छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए किसान पंजीयन अनिवार्य है जिसके लिए अंतिम तिथि 10 नवंबर निर्धारित है. वन अधिकार पट्टा धारी किसानों के रजिस्ट्रेशन के आवश्यक निर्देश राज्य शासन द्वारा सभी जिला कलेक्टरों को दे दिए गए हैं वर्तमान में कुल 1288 समितियों के माध्यम से धान की खरीदी की जा रही है

छत्तीसगढ़ के जल विद्युत ग्रहों ने रचा कीर्तिमान


अब तक का सर्वाधिक विद्युत उत्पादन वर्तमान सत्र के अक्टूबर के प्रथम पखवाड़े में कुल 4 विद्युत परियोजनाओं द्वारा अब तक 345.42 मिलियन यूनिट से अधिक बिजली का उत्पादन करके पिछले साल इस अवधि में 180.04 मिलियन यूनिट बिजली के उत्पादन के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है इस बारे में छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जेनरेशन कंपनी के प्रबंध निदेशक एन के बिजोरा ने इस विषय में विस्तार से बताया है

छत्तीसगढ़ में कुल चार जल विद्युत गृह कार्यरत हैं जो निम्न है
  • 1) हसदेव बांगो जल विद्युत गृह/ माच डोली बांगो (सबसे बड़ा) 40-40 की 3 कुल 318 मिलियन यूनिट
  • 2) गंगरेल बांध जिला धमतरी ----- 16 मिलियन यूनिट
  • 3) सिकासर जल विद्युत जिला गरियाबंद--------– 8 मिलियन यूनिट
  • 4) हरदेव लघुत्तम जल विद्युत गृह कोरबा--------- 3.1 मिलियन यूनिट
भारत का विश्व में पनबिजली उत्पादन में पांचवा स्थान है 46000 मेगा वाट के उत्पादन के साथ यह कुल विद्युत उत्पादन का 12.3% है
भारत के प्रमुख पनबिजली परियोजनाओं में दार्जिलिंग शिवसमुद्रम प्रमुख है इसके अतिरिक्त भारत भूटान से सर प्लस हाइड्रो पावर का आयात भी करता है

छत्तीसगढ़ के कोसा सिल्क ने अफ्रीकी देशों में भी मचाई धूम


राज्य सरकार द्वारा ग्राम उद्योग और वनों पर आधारित उत्पादों को बढ़ावा देने और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने का प्रयास किया जा रहा है जिसके लिए अफ्रीकी देशों में कोसा सिल्क के कपड़ों को निर्यात किया जाएगा। मोरक्को जांबिया गिनी बिसाऊ सेनेगल आदि अफ्रीकी देशों ने कोसा सिल्क में अपनी रुचि दिखाई है अक्टूबर में छत्तीसगढ़ के ग्राम उद्योग विभाग के अधिकारियों और अफ्रीकी देशों के व्यापारिक प्रतिनिधियों से ऑनलाइन व्यापारिक परिचर्चा हुई कोरोना संक्रमण काल में चाइनीस और कोरियन यार्न अनुपलब्धता और इसके मुकाबले कोसा सिल्क धागे के आकर्षक मजबूत और किफायती होने के कारण दूसरे राज्यों के साथ-साथ अन्य देशों में भी इसकी मांग बढ़ रही है छत्तीसगढ़ के दक्षिणी जिलों में कोसा कोकून जंगलों में व्यापक मात्रा में पाया जाता है इस कोकून से कोसा सिल्क साड़ियां और अन्य प्रकार के कपड़ों का निर्माण किया जाता है

छत्तीसगढ़ पुलिस को मिला अपना बैज ,20 वर्षों के बाद पुलिस की वर्दी को सुशोभित करेगा यह बैज।


प्रत्येक राज्य में उस राज्य की विशेषताओं को समाहित करता हुआ एक बैज पुलिस की वर्दी को सुशोभित करता है जो अविभाजित मध्यप्रदेश के समय मध्य प्रदेश पुलिस की वर्दी में था सन 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य विभाजन के पश्चात छत्तीसगढ़ पुलिस के लिए बैज का निर्माण नहीं हो पाया था । छत्तीसगढ़ पुलिस के लिए गठन संकेतिक चिन्ह के प्रस्ताव को लागू करने के लिए राज्य सरकार ने अपनी सहमति दे दी है गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू की अनुशंसा पर राज्य शासन के गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं राज्य गठन के 20 साल के बाद छत्तीसगढ़ के लिए गठन संकेत प्रतीक बनाया गया है जिसमें राज्य की विशेषताओं और विविधताओं को समाहित किया गया है छत्तीसगढ़ पुलिस के लिए उपयोग होने वाला यह बैज ढाल के आकार का है और इसका रंग गहरा नीला है सबसे ऊपर की तरफ छत्तीसगढ़ पुलिस लिखा गया है उसके नीचे राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह जिसे अशोक चिन्ह के नाम से भी जानते हैं अंकित है इसके बीच सूर्य रूपी प्रगति चक्र और उसके नीचे राज्य पशु बायसन का हॉर्न बना हुआ है और उसके नीचे छत्तीसगढ़ पुलिस का आदर्श वाक्य परित्राणाय साधुनाम लिखा हुआ है इस प्रकार छत्तीसगढ़ शासन की पहल के बाद यह बैज जल्द ही पुलिस की वर्दी को सुशोभित करेगा छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य जहां प्रदेश के विकास में होगी राज्य के उच्च शैक्षणिक संस्थाओं की सक्रिय भागीदारी

छत्तीसगढ़ में होगी उच्च शैक्षणिक संस्थाओं की होगी भागीदारी


छत्तीसगढ़ बनेगा देश का ऐसा पहला राज्य जहाँ उच्च शैक्षणिक संस्थाओं की सक्रिय भागीदारी होगी। राज्य योजना आयोग और शैक्षणिक संस्थाओं के मध्य शोध एवं अनुसंधान के लिए एमओयू पर हुए हस्ताक्षर ।

छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग और राज्य के 14 विश्वविद्यालयों एवं चार उच्च शैक्षणिक संस्थाओं ट्रिपल आईटी आईआईएम ऐम्स और आईआईटी के मध्य शोध एवं अनुसंधान के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं राज्य के समावेशी विकास में उच्च शैक्षणिक संस्थानों की भागीदारी सुनिश्चित करने और उनके ज्ञान और कौशल से स्थानीय और विभिन्न क्षेत्रों की समस्याओं के प्रभावी समाधान अनुसंधान अध्ययन और नवाचार को प्रोत्साहित करने के लिए 3 वर्षों के लिए यह एमओयू किया गया है वर्चुअल ऑनलाइन इस प्रोग्राम में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों के लिए बिजली कच्चा माल और कुशल मानव संसाधन उपलब्ध है। उच्च शैक्षणिक संस्थाओं की मदद से प्रदेश में वैल्यू एडिशन के उद्योगों की स्थापना के लिए उद्योगपतियों को छत्तीसगढ़ लाने में और लोगों को हुनरमंद बनाने में भी मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में इस कार्यक्रम के शोध और अनुसंधान के लिए स्थापित कोआर्डिनेशन यूनिट का शुभारंभ किया। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक विश्वविद्यालय और उच्च शैक्षणिक संस्थाओं में रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए विशेष सेल बनेगा।

केंद्र सरकार से एथेनॉल प्रोजेक्ट को हरी झंडी, बड़ी संख्या में प्लांट लगाएगी छत्तीसगढ़ सरकार।


केंद्र सरकार की ओर से यह आदेश कि जिस प्रदेश की सरकार किसानों से धान खरीदी में बोनस देगी उनका धान केंद्रीय पूल के लिए नहीं खरीदा जाएगा। इस विवाद के बाद छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा अतिरिक्त धान से बायो एथेनॉल उत्पादन के लिए केंद्र से अनुमति का प्रयास सफल हुआ है, और केंद्र ने बायो एथेनॉल उत्पादन की दर Rs/54.87 पैसे प्रति लीटर निर्धारित कर दी है। छत्तीसगढ़ राज्य में लगने वाले एथेनॉल संयंत्रों को किसानों द्वारा सीधे धान का विक्रय किया जा सकेगा, जो राज्य के किसानों की आर्थिक उन्नति के लिए अत्यंत सहायक सिद्ध होगा। भोरमदेव शक्कर कारखाने में जल्द ही प्रदेश का पहला एथेनॉल प्लांट लगाया जाएगा।

इथेनॉल एक तरह का अल्कोहल होता है जिससे वाहन मैं ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है एथेनॉल के ईंधन के रूप में प्रयोग से 35% कम कार्बन मोनो ऑक्साइड का उत्सर्जन होता है। इस प्रकार से इसे एक एनवायरमेंट फ्रेंडली ईंधन के रूप में देखा जा रहा है । छत्तीसगढ़ में गन्ने और धान से एथेनॉल का निर्माण किया जाएगा ।

छत्तीसगढ़ में समन्वित खेती से किसानों को खुशहाल बनाने की पहल


छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा, किसानों की उन्नति के लिए समन्वित खेती पद्धति को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके अंतर्गत, फसल उत्पादन के साथ सब्जी भाजी, बकरी, एवं कुक्कुट पालन, को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस योजना द्वारा, किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है। योजना के अंतर्गत, लाख उत्पादन, मछली पालन, मशरूम उत्पादन, बीज उत्पादन, आदि का प्रशिक्षण कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से किसानों को उपलब्ध कराया जाएगा।

मनरेगा के अंतर्गत लाख उत्पादन को दिया जा रहा है बढ़ावा


कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत बांस कुंड में लाख का उत्पादन किया जा रहा है। सेमियलता के पौधे से लाख की प्राप्ति होती है, जिसका रोपण बड़ी मात्रा में किया गया है। लाख उत्पादन में छत्तीसगढ़ का देश में प्रथम स्थान है, जो देश के कुल उत्पादन का 42% है। लाख का प्रयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में व्यापक रूप से होता है।

पद्मश्री फूलबासन बाई यादव ने केबीसी के स्पेशल एपिसोड में दर्ज कराई अपनी उपस्थिति


राजनांदगांव गांव की समाजसेवी फूलबासन बाई ने कौन बनेगा करोड़पति टीवी शो में अक्टूबर माह में भाग लिया। इन्होंने कम उम्र में गरीबी और समाज की रूढ़ियों से लड़कर हजारों महिलाओं को जीविका का साधन उपलब्ध कराया। इस टीवी गेम शो में मशहूर अभिनेत्री रेणुका शहाणे ने फूलबासन बाई का साथ दिया। फूलबासन बाई ने रेणुका शहाणे के साथ मिलकर कुल 50 लाख रुपए की रकम जीती

बॉलीवुड के अभिनेता शाहरुख खान ने एनजीओ के माध्यम से छत्तीसगढ़ को पीपीई किट उपलब्ध

अभिनेता शाहरुख खान के एनजीओ मीर फाउंडेशन ने छत्तीसगढ़ में कुल 2 हजार पीपीई किट उपलब्ध कराए हैं। पीपीई किट जिसे पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट भी कहा जाता है का प्रयोग कोरोना वारियर अपने बचाव में इसका प्रयोग करते हैं

शिक्षा में अभिनव पहल के लिए, राजनांदगांव जिले की, नीति आयोग द्वारा सराहना।

नीति आयोग ने राजनांदगांव में पढ़ाई तूहर द्वार के अंतर्गत नवाचार के माध्यम से बच्चों को शिक्षित करने के प्रयासों की सराहना की है। पढ़ाई तूहर द्वार ऑनलाइन शिक्षा व्यवस्था है जिसमें प्रदेश के करीब 22 लाख छात्र छात्राएं और करीब 2 लाख शिक्षक जुड़ चुके हैं इस व्यवस्था के अंतर्गत लाउडस्पीकर तथा बुलटू के बोल के माध्यम से पढ़ाई को नया आयाम दिया जा रहा है

छत्तीसगढ़ राज्य में, अमिताभ जैन -अगले मुख्य सचिव


वर्तमान मुख्य सचिव आरपी मंडल के नवंबर 2020 में रिटायर होने के बाद संभवत अमिताभ जैन उनका स्थान 1 दिसंबर से ग्रहण कर सकते हैं वर्तमान में श्री जैन अपर मुख्य सचिव वित्त और जल संसाधन के पद पर पदस्थ हैं अमिताभ जैन छत्तीसगढ़ मूल के चौथे आई ए एस है जो मुख्य सचिव बनेंगे , इसके पूर्व विवेक ढांड अजय सिंह और आरपी मंडल मुख्य सचिव बन चुके हैं इनका कार्यकाल लगभग 5 वर्ष का हो सकता है अमिताभ जैन मूलतः दल्ली राजहरा के निवासी हैं

राज्य के प्रथम ई मेगा विधिक सेवा शिविर का आयोजन 31 अक्टूबर को संपन्न


मेगा कैंप का आयोजन मुख्य न्यायाधीश एवं मुख्य संरक्षक माननीय श्री रामचंद्र मेनन के निर्देशन एवं मार्गदर्शन में आयोजित किया गया राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष न्यायमूर्ति प्रशांत मिश्रा द्वारा इसका वर्चुअल शुभारंभ किया गया प्रदेश के 23 जिलों और 64 तहसीलों में एक साथ इस ऑनलाइन शिविर का आयोजन हुआ इस ई विधिक सेवा मेगा कैंप को e-platform के माध्यम से प्रत्येक जिले में आयोजित किया जाएगा


प्रदेश के 7 पुलिस जवान शौर्य पदक से होंगे सम्मानित


राज्य स्थापना दिवस 1 नवंबर को प्रदेश के 7 पुलिस जवानों को उनके उत्कृष्ट सेवा कार्य के लिए शौर्य पदक से सम्मानित किया गया 6 जवान बस्तर संभाग से हैं जिन्होंने नक्सली गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए अदम्य साहस और वीरता का परिचय दिया है

पुरस्कार मुख्यमंत्री निवास में आयोजित राज्य उत्सव कार्यक्रम के दौरान दिया जाएगा पुरस्कार प्राप्त करने वाले पुलिस के जवान निम्न है


दुर्ग पुलिस ने अब तक का सबसे बड़ा मास्क बनाकर बनाया कीर्तिमान


दुर्ग पुलिस ने कोविड-19 के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए अब तक का सबसे सबसे बड़ा मास्क बनाया है प्रतीकात्मक रूप से बनाए गए इस मास्क से ग्लोब को ढका गया है और लोगों को मास्क पहनने का संदेश दिया गया है

कांग्रेस के आदिवासी नेता माधव सिंह ध्रुव का निधन

माधव सिंह ध्रुव सिहावा से विधायक रहे थे, माधव सिंह अविभाजित मध्यप्रदेश में कैबिनेट मंत्री भी रहे थे

मुख्यमंत्री ने रामरस पुस्तक का किया विमोचन


इस पुस्तक में स्वामी आत्मानंद जी द्वारा उनके जीवन काल में रामकथा के विभिन्न प्रसंगों पर दिए गए सुंदर व्याख्यान को संकलित किया गया है इसे संकलित करने का महत्वपूर्ण कार्य डॉक्टर राजलक्ष्मी वर्मा ने किया है

राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किस्त का भुगतान 1 नवंबर को